कोरोना वैक्सीन के नाम पर 4 लोगों को लगवा दिया जहर का इंजेक्शन

पत्नी से अफेयर के शक में एक व्यक्ति ने कोरोना को हथियार बना लिया और पत्नी के कथित प्रेमी सहित पूरे परिवार को खत्म करने की साजिश रच डाली। कोरोना वैक्सीन के नाम पर चार लोगों को जहर का इंजेक्शन लगवा दिया। घटना राजधानी दिल्ली के अलीपुर की है।

इस साजिश को अंजाम देने के लिए 42 साल के आरोपी ने दो महिलाओं को पैसे देकर इस काम के लिए राजी किया। उन्हें उसने स्वास्थ्यकर्मी बनाकर उन्हें 38 वर्षीय होम गार्ड के परिवार को खत्म करने भेजा जिस पर उसे पत्नी के साथ अफेयर का शक था। महिलाओं ने कोरोना वैक्सीन के नाम पर होमगार्ड के जवान के अलावा उसके परिवार के तीन अन्य लोगों को जहर का इंजेक्शन लगा दिया।

कुछ देर बाद चारों की तबीयत बिगड़ गई तो आसपास के लोगों ने उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया। पुलिस ने कहा कि चारों पीड़ितों की हालत अब स्थिर है। बाहरी-उत्तरी जिले के डेप्युटी कमिश्नर गौरव शर्मा ने कहा कि सीसीटीवी के जरिए दो महिलाओं की पहचान की गई, जिनसे पूछताछ में मास्टरमाइंड का खुलासा हुआ। तीनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया गया है।

मुख्य आरोपी अलीपुर में व्यापार करता है। उसे शक था कि उसी इलाके में रहने वाले होम गार्ड जवान के साथ उसकी पत्नी का अफेयर चल रहा है। गौरव शर्मा ने बताया, ”वह बदला लेना चाहता था। इसलिए उसने दूसरे गांव की दो महिलाओं को फिरौती दी। उसने उन्हें कोरोना की दवा के नाम पर पूरे परिवार को जहर का इंजेक्शन लगाने को कहा।”

दोनों महिलाएं होमगार्ड जवान के घर पहुंचीं और खुद को स्वास्थ्यकर्मी बताया। उन्होंने होमगार्ड के जवान उसकी मां और दो रिश्तेदारों को जहर का इंजेक्शन लगा दिया। तुरंत चारों की तबीयत बिगड़ने लगी तो महिलाएं वहां से भाग निकलीं। चारों पीड़ितों को राजा हरिश्चंद्र हॉस्पिटल में ले जाया गया वहां उनका इलाज चल रहा है। चारों अब खतरें से बाहर हैं। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि अपराध को अंजाम देने के लिए उन्होंने कौन सा जहर इस्तेमाल किया था।

राजधानी दिल्ली में यह दूसरा मामला है जब अपराध के लिए कोरोना का इस्तेमाल किया गया। इससे पहले 1 मई को एक महिला ने पति की गला घोंटकर हत्या कर दी थी और कोरोना से मौत का दावा किया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से हत्या का खुलासा हुआ।