छोटे किसानों के लिए वरदान साबित होगी ‘किसान कल्याण योजना’ : विधायक वर्मा

खण्डवा। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में प्रदेश के लाखों किसानों को प्रतिवर्ष 2-2 हजार रुपये की 3 किश्तों में कुल 6000 रुपये प्रति किसान प्रदान किए जाते हैं। अब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में अब मध्यप्रदेश सरकार ने किसानों के हित में प्रतिवर्ष 2 किस्तों में 2-2 हजार रुपये जमा कर कुल 4000 रुपये की सम्मान निधि देने का फैसला किया है। इस तरह केंद्र व राज्य सरकार की इन योजनाओं की कुल राशि अब 10 हजार हो जाएगी।

प्रदेश सरकार की ‘‘मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना‘‘ से प्रदेश के अधिकांश किसानों को लाभ होगा। यह बात खण्डवा विधायक देवेन्द्र वर्मा ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष खण्डवा में आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि यह योजना छोटे किसानों के लिए वरदान साबित होगी। कार्यक्रम में अपर कलेक्टर नंदा भलावे कुशरे सहित विभिन्न अधिकारी मौजूद थे। विधायक वर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान की अगुवाई में राज्य सरकार प्रदेश के किसानों को पूरा सुरक्षा चक्र प्रदान कर रही है।

मध्यप्रदेश सरकार एक के बाद एक किसानों के हित में फैसले ले रही है। पहले किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर फसल ऋण उपलब्ध कराने की योजना प्रारंभ की गई। फिर उनके खातों में गत वर्षो की फसल बीमा की राशि डाली गई। शीघ्र ही प्रदेश के उद्यानिकी कृषकों को भी क्रेडिट कार्ड वितरित किए जाएंगे। कार्यक्रम में विधायक वर्मा ने लगभग 12 किसानों को किसान कल्याण योजना संबंधी प्रमाण पत्र वितरित किए और बताया कि योजना की राशि किसानों के खाते में मुख्यमंत्री जी द्वारा सिंगल क्लिक के माध्यम से जमा की जा चुकी है।

कार्यक्रम में जिन किसानों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए, उनमें अशोक पिता सीताराम, लक्ष्मी बाई निवासी रोशनाई, भगवान, नामदेव, रामसुख, हरिसिंह व प्रकाश शामिल है। इस दौरान भोपाल में आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी किसानों ने देखा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि फसल बीमा योजना की कमियों को दूर करते हुए नई फसल बीमा योजना लागू करने के संबंध में प्रधानमंत्री जी से चर्चा की जायेगी। उन्होंने कहा कि कृषि व उद्यानिकी विभाग द्वारा दी जाने वाली अनुदान राशि अब दुकानदारों के खाते में नहीं जमा की जायेगी, बल्कि सीधे किसानों के खाते में जमा की जायेगी। प्रदेश सरकार इस पर विचार कर रही है। कार्यक्रम के संबंध में विस्तार से जानकारी प्रभारी भू अभिलेख अधीक्षक स्वाति मिश्रा ने बताया कि मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना में लाभान्वित किए जाने वाले किसानों की जानकारी किसान सम्मान निधि पोर्टल पर दर्ज रहेगी। क्षेत्र के पटवारी जानकारी का सत्यापन करेंगे। किसानों को सिर्फ एक बार पटवारी को भौतिक रूप से आवेदन देना होगा। शेष प्रक्रिया मोबाइल पर ही हो जाएगी। किसानों को राशि प्राप्त होने की सूचना भी उनके मोबाइल पर ही मिल जाएगी।