दिल्ली को खोलने के लिए सरकार ने तैयार किया माइक्रो मैनेजमेंट प्लान

राजधानी दिल्ली में लॉकडाउन बढ़ेगा या हटेगा यह दिल्लीवालों की राय पर निर्भर करेगा। इसी रायशुमारी के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि मैं दिल्ली के लोगों से उनके सुझाव पूछना चाहता हूं कि वे मई 17 को क्या चाहते हैं। आप अपने सुझाव बुधवार शाम 5 बजे तक नंबर 1031 और व्हाट्सएप नंंबर 8800007722 या ई-मेल [email protected] पर भेज सकते हैं।

दिल्ली कोरोना से लड़ने को पूरी तरह तैयार है : केजरीवाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी इलाकों को खोलने की मांग रखी। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली कोरोना से लड़ने को पूरी तरह तैयार है। अब अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए दिल्ली के सभी इलाकों को खोलने की आवश्यकता है। दिल्ली सरकार के पास इसके लिए पूरी योजना तैयार है।

माइक्रो मैनेजमेंट योजना : दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, दिल्ली को खोलने के लिए सरकार ने माइक्रो मैनेजमेंट प्लान तैयार किया है। इसके तहत सिर्फ उसी इलाके को सील किया जाएगा, जहां अधिक संख्या में कोरोना के केस पाए जाएंगे। 70 विधानसभाओं में औसतन हर विधानसभा में 4 वार्ड हैं। योजना के मुताबिक जिस वार्ड में अधिक मामले सामने आएंगे, उस वार्ड को सील किया जाएगा, बाकी को ग्रीन या ऑरेंज जोन के नियमों के अनुसार खोल दिया जाएगा।

विशेष गली या मोहल्ले को रेड जोन बनाया जाए

विशेष गली या मोहल्ले को रेड जोन बनाया जाए दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, सरकार चाहती है कि जिस गली या मोहल्ले में कोरोना के पांच मामले सामने आएं, उसे रेड जोन घोषित कर दिया। उसके पांच सौ मीटर के दायरे को रेड जोन, 500 मीटर के बाद ऑरेंज जोन और एक किलोमीटर के बाद ग्रीन जोन लागू कर दिया जाए। ऐसा करने से पूरी दिल्ली को रेड जोन से बाहर निकाला जा सकेगा और दिल्ली में सामान्य जरूरत की वस्तुओं की परेशानी खत्म होगी। जो इलाके रेड जोन होगा वहां सरकार की ओर से जरूरी सामान की आपूर्ति की जाएगी। इसके अतिरिक्त बाकी दिल्ली में उद्योग-धंधों और बाजारों को खोल दिया जाएगा।