प्रवासी श्रमिकों के लिए आयोग का गठन, कांग्रेस ने साधा निशाना

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के चलते लगे लॉकडाउन के बाद वापस मध्य प्रदेश लौटे प्रवासी श्रमिकों के लिए आयोग का गठन किया गया है। आयोग के पास प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने की जिम्मेदारी होगी। सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिए आयोग का गठन किए जाने पर मप्र के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने निशाना साधा है।

पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए राज्य सरकार द्वारा श्रमिक आयोग का गठन किए जाने पर कहा है कि भले ही सरकार प्रवासी मजदूर आयोग का गठन ले लेकिन सच यह है कि आज भी मजदूर दर- दर भटक रहे हैं और फिलहाल इन्हें रोजगार मिलने के कोई आसार नहीं है। सरकार पर निशाना साधते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि कोरोना के मोर्चे पर सरकार का अब तक कंट्रोल नहीं है। कर्मचारियों को नौकरी से निकला जा रहा है, हम इसकी निंदा करते हैं।

उन्होंने मांग करते हुए कहा कि सरकार को सभी कर्मचारियों को वापस लेना चाहिए, आउटसोर्स कर्मचारियों को निकालने का काम बदले की भावना से किया जा रहा है। इसके अलावा उन्होंने मानसून सत्र में विधायकों के प्रश्न उत्तर न होने पर कहा कि इस व्यवस्था को जारी रखना चाहिए। पीसी शर्मा ने नेता प्रतिपक्ष को लेकर कहा कि कांग्रेस का चेहरा कमलनाथ है और वही नेता प्रतिपक्ष भी होंगे। विधानसभा उपचुनाव में पीसी शर्मा ने ग्वालियर संभाग की सभी 16 सीटों पर जीत का दावा करते हुए कहा है कि कांग्रेस जीतेगी, निर्दलीय उम्मीदवारों से कोई खतरा नहीं है।