भाजपा नेता प्रभुराम चौधरी को प्लास्टिक की प्लेट में खाना परोसे जाने को कांग्रेस ने बताया दलितों का अपमान

भोपाल। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमत को लेकर प्रदेश की भाजपा सरकार को घेरने में लगी कांग्रेस को जीतू पटवारी के ट्वीट ने खामोश कर दिया, लेकिन अब कांग्रेस को एक नया मुद्दा मिल गया है। दरअसल सोशल मीडिया पर वायरल हो एक फोटो जिसमें पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी पत्तल में खाना खाते नजर आ रहे हैं, जबकि सामने बैठे संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी स्टील की थाली में खाना खा रहे हैं।

इस तस्वीर को लेकर कांग्रेस ने ट्वीट कर भाजपा पर तंज कसा है और इसे दलितों का अपमान बताया है। हालांकि अभी तक इस मामले में भाजपा की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है लेकिन यह तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा है कि तस्वीर शर्मसार करती है, अनुसूचित जाति वर्ग से आने वाले पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी को भाजपा के संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी के साथ जब खाना परोसा गया तो प्रभुराम चौधरी के लिए डिस्पोजेबल का उपयोग कर अपमानित किया गया। इसी सम्मान की भूख में जनता को धोखा दिया?

वहीं पूर्व मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक सज्जन सिंह वर्मा ने भी तस्वीर पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि दलित होने का मतलब यह नहीं कि किसी के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार करें।

मंत्री तुलसीराम सिलावट पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वह स्वयं दलित वर्ग से आते है, उन्होंने चार दिन पहले कहा था कि जो लोग भाजपा में गए है, उनके साथ कांग्रेस गलत व्यवहार करती थी। जबकि पहले वो खुद ही एक सार्वजनिक कार्यक्रम में कह चुके है कि कांग्रेस से महान पार्टी नहीं हो सकती और आज वही व्यक्ति कह रहा है कि कांग्रेस में दलितों का अपमान हो रहा है।

पूर्व मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने मंत्रिमंडल में 21 प्रतिशत स्थान दलितों को दिए. भाजपा दलितों का कितना सम्मान कर रही है यह सोशल मीडिया पर दिख रहा है? अब समझ में आ रही है कि उनके नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी बड़ेे भाजपा नेताओं के घर लाइन में बैठना पडता है। उनके पूर्व मंत्री के साथ कैसे दोयम दर्जे का व्यवहार किया जा रहा है।