मध्य प्रदेश के गुना में सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौत, 50 घायल

कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच प्रवासी मजदूरों के साथ हादसों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा। यूपी के मुजफ्फरनगर में बस हादसे के बाद अब मध्य प्रदेश के गुना में भीषण सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौत हो गई है और करीब 50 से अधिक घायल बताए जा रहे हैं। घटना कल रात की बताई जा रही है, जब मजदूर ट्रक में सवार होकर महाराष्ट्र से यूपी की ओर लौट रहे थे।

यह हादसा तब हुआ जब ट्रक की बस से टक्कर हो गई। ये मजदूर ट्रक में सफर कर रहे थे। हादसे की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के अफसर मौके पर पहुंच गए और घायलों को तुरंत जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। ये सभी 8 मृतक उत्तर प्रदेश के रहने वाले थे और महाराष्ट्र से लौट रहे थे।

यह हादसा गुना के कैंट थाना इलाके के पास देर रात की है। प्रवासी मजदूरों से भरे ट्रक और बस टक्कर के बाद चीख-पुकार मच गई। बस और ट्रक में इतनी जबरदस्त भिड़ंत हुई कि मौके पर ही आठ मजदूरों की मौत हो गई और पचास से अधिक घायल हो गए।

इससे पहले उत्तर प्रदेश के मेरठ में बुधवार रात करीब एक बजे दर्दनाक हादसे में 6 लोगों की जान चली गई। मुजफ्फरनगर-सहारनपुर स्टेट हाइवे पर पंजाब से लौट रहे मजदूरों को एक रोडवेज बस ने कुचल दिया। इस हादसे में छह मजदूरों की मौत हो गई और चार की हालत गंभीर है। देर रात सभी घायलों को मेरठ मेडिकल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ये सभी बिहार के प्रवासी मजदूर बताए जा रहे हैं।

दरअसल, कोरोना लॉकडाउन की वजह से प्रवासी मजदूर जहां-तहां फंसे हुए हैं। रोजगार छिन जाने के बाद हजारों मजदूर खाने-पीने और रहने के लिए अपने घरों की ओर पलायन कर रहे हैं। लॉकडाउन में ट्रेन, बस सभी सेवाएं निलंबित हैं। मगर सरकार ने मजदूरों के लिए कुछ श्रमिक ट्रेनें चला रही हैं, जिससे मजदूरों को घर पहुंचाया जा रहा है। मगर लोगों की संख्या इतनी अधिक है कि ट्रेन न मिलने की स्थिति में पैदल ही अपने घरों की ओर चल पड़े हैं। बीते दिनों महाराष्ट्र में भी रेल की पटरी पर हादसे में 16 मजदूरों की जानें गई थीं।