सिंघू बॉर्डर : प्रदर्शनकारी की तलवार से SHO घायल

पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले और भांझी लाठियां

नई दिल्‍ली (hdnlive): किसानों के प्रदर्शन स्‍थल पर शुक्रवार को एक बार फिर से हंगामा हो गया. खुद को स्‍थानीय निवासी बताने वाले लोगों का एक गुट वहां पहुंचा और धरना समाप्‍त कर रास्‍ता खोलने की मांग करने लगे. ये लोग ‘सिंघू बॉर्डर खाली करो’ के नारे लगाने लगे. इससे वहां के हालात इतने बिगड़ गए कि पुलिस को अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले तक दागने पड़े. जानकारी के मुताबिक, इस अफरातफरी के बीच प्रदर्शनकारी की तलवार से अलीपुर के SHO प्रदीप पालीवाल घायल हो गए.

कुछ लोगो ने किसानों पर बल प्रयोग किया

सिंघू सीमा पर पुलिस ने कथित तौर पर स्थानीय होने का दावा करने वालों और किसानों पर बल प्रयोग किया. स्थानीय होने का दावा करने वाले लोग विरोध स्थल खाली करने के लिए प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान किसानों से उनकी झड़प हो गई. बताया जाता है कि प्रदर्शनकारियों की ओर से पहले पत्‍थरबाजी शुरू कर दी गई थी. इसके बाद पुलिस को भी सख्‍ती करनी पड़ी.

किसानों पर पत्थरबाजी की और गालियां दीं

बताया जा रहा है की सिंघू सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को वहां से हटाने के लिए बवाना और नरेला से कथित तौर पर स्थानीय लोग पहुंचे थे. उन्होंने किसानों पर पत्थरबाजी की और गालियां दीं. कुछ किसानों ने लाठियां भी मारी गईं. काफी समय तक पुलिस ने कथित स्थानीयों को समझाया, लेकिन जब हालात बेकाबू होने लगे तो पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े और लाठियां भांझनी पड़ी.