अमेरिका ने वित्त वर्ष 2020 के लिए भारतीयों, पेशेवरों समेत विदेशी नागरिकों को लोकप्रिय एच-1 बी वीजा दिए जाने की संख्या 65,000 तक सीमित कर दी है। एच-1 बी वीजा गैर-प्रवासी वीजा है जो अमेरिकी कंपनियों को विदेशी कर्मचारियों को खासतौर से तकनीकी विशेषज्ञता वाले पेशों में नौकरी देने की अनुमति देता है।

तकनीकी कंपनियां भारत और चीन जैसे देशों से हर साल हजारों कर्मचारियों की भर्ती करने के लिए इस वीजा पर निर्भर रहती हैं। वीजा के आवेदनों को मंजूरी देने के काम से जुड़ी संघीय एजेंसी अमेरिकी नागरिकता एवं प्रवासी सेवा (यूएससीआईएस) ने शुक्रवार को कहा, ‘उसे वित्त वर्ष 2020 के लिए कांग्रेस द्वारा एच-1बी वीजा के लिए सीमित की गई 65,000 की संख्या के लिए पर्याप्त आवेदन मिल चुके हैं।’’

वित्त वर्ष एक अक्टूबर 2019 से शुरू होगा और यूएससीआईएस को एक अप्रैल से वीजा के आवेदन मिलने शुरू हो गए हैं। बहरहाल, एजेंसी ने यह नहीं बताया कि उसे पहले पांच दिनों में कितने आवेदन मिले।