प्याज की लगातार बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए केंद्र सरकार ने निर्यात पर रोक लगा दी है. प्याज के निर्यात पर रोक के बाद पड़ोसी मुल्क बांग्लादेश परेशान है. भारत दौरे पर आईं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा कि भारत द्वारा अचानक प्याज का निर्यात बंद कर देने से हमें परेशानी हो गई.

बांग्लादेशी पीएम ने कहा कि मुझे नहीं पता कि प्याज को क्यों बद किया गया, हमने प्याज खाना बंद कर दिया. आगे से अगर इस तरह कोई कदम भारत उठता है तो कृपया पहले जानकारी दे ताकि हम भी व्यवस्था कर लें.

शेख हसीना ने कहा कि बांग्लादेश दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. उन्होंने कहा, हमें उम्मीद है कि 2041 तक बांग्लादेश एक विकसित देश बन जाएगा. शेख हसीना ने कहा कि भारत के साथ हमारे संबंध काफी अच्छे हैं, और मुझे विश्वास है कि आने वाले वर्षों में दोनों देशों के बीच रिश्ता और मजबूत होगा.

भारत ने तत्काल प्रभाव से प्याज के निर्यात पर लगाई रोक

प्याज के दाम को काबू करने के मकसद से सरकार ने हाल ही में प्याज के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है. प्याज की कीमतों में भारी बढ़ोतरी के बाद केंद्र सरकार ने प्याज के निर्यात पर रोक लगाने का फैसला किया. विदेश व्यापार निदेशालय की ओर से कहा गया था कि प्याज निर्यात नीति में संशोधन करते हुए प्याज की सभी वेरायटी के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है. यह रोक अगले आदेश तक जारी रहेगी.

चार दिवसीय भारत दौरे पर शेख हसीना

बता दें कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना गुरुवार को चार दिवसीय भारत दौरे पर हैं. शेख हसीना और प्रधानमंत्री मोदी से द्विपक्षीय वार्ता करेंगी. बांग्लादेशी पीएम की इस यात्रा के दौरान दोनों पक्षों के बीच कई समझौतें किए जाएंगे. बांग्लादेश और भारत में संसदीय चुनाव होने के बाद शेख हसीना पहले भारत दौरे पर हैं.