जैश और लश्कर के 4 आतंकी दिल्ली में घुसे

देश की राजधानी दिल्ली में आतंकी हमले की आशंका है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर ए तैयबा के 4 आतंकवादी दिल्ली में दाखिल हो गए हैं। दिल्ली पुलिस अलर्ट पर आ गई है। जगह-जगह सघन जांच की जा रही है। रिपोर्ट के मुताबिक आतंकियों के पास हथियार भी हैं। दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर इलाकों में सघन जांच शुरू कर दी है। तमाम गेस्ट हाउस, होटल्स, कश्मीर नंबर के वाहनों की सघन तलाशी शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है कि बॉर्डर इलाकों में वाहनों के बोनट खोलकर चेकिंग की जा रही है। दिल्ली के सभी जिला डीसीपी, स्पेशल सेल क्राइम ब्रांच स्पेशल ब्रांच और अन्य यूनिट को अर्लट पर रखा गया है।

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली के मकान मालिकों से अपील की है कि इस वक्त किसी भी किराएदार को घर देने से पहले पूरी जानकारी लें। बस अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर सघन जांच की जा रही है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों का कहना है कि ये आतंकी दिल्ली-एनसीआर में वारदात को अंजाम देने के इरादे से दाखिल हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि आतंकी कार, टैक्सी या बस के जरिए जम्मू-कश्मीर से दिल्ली में दाखिल हुए हैं। दिल्ली के आउटर नॉर्थ जिले के इलाकों में खास नजर बनाए रखने को कहा गया है।

तीन आतंकियों इसी महीने गिरफ्तार हुए थे कथित आतंकी


11 जून को टेरर स्ट्राइक से पहले स्पेशल सेल ने कथित तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया था। पकड़े जाने वाले कथित आतंकियों में ख्वाजा मोइनुद्दीन (52), सैयद अली नवाज (32) और अब्दूल समद उर्फ नूर (28) के रूप में हुई थी। तीनों तमिलनाडु के रहने वाले हैं। इनमें सबसे शातिर ख्वाजा मोइनुद्दीन है। इन तीनों से सेल की पूछताछ में पता लगा है कि यह लोग इन्हें अब दिल्ली में कुछ ‘बड़ा’ करने के लिए भेजा गया था। उन्हें टारगेट दिया जाना था। यह सब विदेशी हैंडलर तय करते थे कि उन्हें कब, क्या करना होगा। हालांकि, इनके एक और साथी जफर को गुजरात पुलिस ने पकड़ा है। स्पेशल सेल उसे ट्रांजिट रिमांड पर दिल्ली ला रही है। उससे भी काफी कुछ खुलासा होने की उम्मीद है। पता लगा है कि जफर इन्हें हथियार और अन्य सामग्री मुहैया कराता था।

छह लोगों के इनके गैंग में अभी तीन गिरफ्तार हुए हैं। कम से कम तीन अभी फरार हैं। दो मुख्य हैंडलर और दो से तीन लोग ऐसे हैं, जो इन्हें ऑन डिमांड चीजें मुहैया कराते थे। इनमें से एक को गुजरात पुलिस ने पकड़ा है। फिलहाल, स्पेशल सेल द्वारा पकड़े गए इन तीनों कथित आतंकवादियों से पूछताछ में तमिल भाषा थोड़ी समस्या कर रही है। वैसे, सेल ने तमिल पुलिसकर्मियों का बंदोबस्त किया है। ख्वाजा के पीएफआई लिंक का तो पता लगा है। सेल को उम्मीद है कि अगले कुछ दिनों में इनके एक-दो साथियों को पकड़ा जा सकता है। हालांकि, सेल का कहना है कि अभी तक इनके अलावा किसी अन्य आतंकवादी संगठन की ओर से दिल्ली पर आतंकवादी हमला करने का कोई इनपुट नहीं मिला है। लेकिन सावधानी बरती जा रही है।