लखनऊ

देश की पहली कॉरपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस के लिए इंतजार खत्म हो गया है। लखनऊ-दिल्ली का सफर इस ट्रेन के जरिए सवा छह घंटे में पूरा किया जा सकता है, जबकि स्वर्ण शताब्दी को यह सफर तय करने में 6 घंटे 40 मिनट का समय लगता है। तेजस एक्सप्रेस में पैसेंजरों के लिए विमानों जैसी सुविधाएं हैं। एक खासयित यह भी है कि इसके यात्रियों को ट्रेन के लेट होने पर मुआवजा भी मिलेगा। ट्रेन लखनऊ से सुबह छह बज कर दस मिनट पर रवाना होगी और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन दोपहर 12 बज कर 25 मिनट पर पहुंचेगी । ट्रेन वापसी में दिल्ली से तीन बजकर 35 मिनट पर रवाना होगी और दस बज कर पांच मिनट पर लखनऊ पहुंचेगी।

तेजस देश की पहली प्राइवेट ट्रेन है और इसका परिचालान भारतीय रेलवे की सहायक कंपनी आईआरसीटीसी कर रही है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लखनऊ जंक्शन से तेजस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। लखनऊ से नई दिल्ली के लिए रवाना हुई इस ट्रेन में करीब 400 यात्री सवार हैं। इस स्पेशल ट्रेन का नंबर 00501 है। यह ट्रेन बीच में केवल कानपुर और गाजियाबाद में रुकेगी। नियमित रूप से ट्रेन छह अक्टूबर से चलेगी। ट्रेन मंगलवार को छोड़कर सप्ताह में 6 दिन चलेगी।

2 घंटे लेट होने पर 250 रुपये मुआवजा

दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को ट्रेन के विलंब होने पर मुआवजा दिया जाएगा। रेलवे की सहायक कंपनी आईआरसीटीसी ने मंगलवार को ही यह जानकारी दी थी। इसमें कहा गया कि एक घंटे से अधिक का विलंब होने पर 100 रुपये की राशि अदा की जाएगी, जबकि दो घंटे से अधिक की देरी होने पर 250 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

सुबह 6:10 पर चलेगी

तेजस छह अक्टूबर से सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर लखनऊ जंक्शन से छूटकर 7 बजकर 20 मिनट पर कानपुर और वहां से 7 बजकर 25 मिनट पर चलकर 11 बजकर 43 मिनट पर गाजियाबाद पहुंचेगी। यहां से 11 बजकर 45 मिनट पर छूटकर 12 बजकर 25 मिनट पर नई दिल्ली पहुंचेगी। नई दिल्ली से ट्रेन शाम 4 बजकर 30 मिनट पर रवाना होकर शाम 5 बजकर 10 मिनट पर गाजियाबाद, रात 9 बजकर 30 मिनट पर कानपुर और रात 10 बजकर 45 मिनट पर लखनऊ आएगी। ट्रेन अप और डाउन दोनों रूटों पर गाजियाबाद और कानपुर में रुकेगी।

एक दिन नहीं चलेगी तेजस

तेजस दिल्ली-लखनऊ दोनों ओर से मंगलवार को छोड़कर सप्ताह के हर दिन यानी सोम, बुध, गुरु, शुक्र, शनि और रविवार को चलेगी। तेजस ट्रेन में एसी चेयरकार और एग्जिक्युटिव चेयरकार, दो तरह की बोगियां होगीं। दरअसल, तेजस एयर कंडीशनंड चेयर कार्स कैटिगरी की ट्रेन है और शताब्दी एक्सप्रेस से भी ज्यादा प्रीमियम है।

क्या है किराया?

अगर आप तेजस एक्सप्रेस के एसी चेयर कार में लखनऊ से दिल्ली तक सफर करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए 1,125 रुपये चुकाने होंगे। इसमें बेस फेयर 895 रुपये, 45 रुपये जीएसटी और 185 रुपये का कैटरिंग चार्ज शामिल है। इसी तरह अगर आप तेजस एक्सप्रेस के एग्जिक्युटिव चेयरकार में सफर करते हैं तो आपको इसके लिए 2,310 रुपये चुकाने होंगे। इसमें 1,966 रुपये बेस फेयर, 99 रुपये जीएसटी के साथ ही 245 रुपये कैटरिंग चार्ज के शामिल हैं।

दिल्ली-लखनऊ किराया

इसी तरह अगर आप तेजस एक्सप्रेस से दिल्ली से लखनऊ की यात्रा करना चाहते हैं तो आपको एसी चेयरकार का टिकट बुक कराने के लिए 1,280 रुपये खर्च करने होंगे। इसमें बेस फेयर 895 रुपये, 45 रुपये जीएसटी और 340 रुपये कैटरिंग चार्ज शामिल है। तेजस के एग्जिक्युटिव चेयरकार के लिए आपको 2,450 रुपये चुकाने होंगे। इसमें बेस फेयर के 1,966 रुपये, 99 रुपये जीएसटी और 385 रुपये कैटरिंग चार्ज के शामिल हैं।