कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली के सभी मार्केट (थोक एवं खुदरा बाजार) को तीन दिनों तक के लिए बंद करने का फैसला लिया गया है. यह निर्णय कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स की एक बैठक लिया गया. संगठन के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि दिल्ली के सारे मार्केट शुक्रवार 21 मार्च से सोमवार 23 मार्च तक बंद रहेंगे. इससे पहले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के कारण सभी माल को 31 मार्च 2020 तक के लिए बंद रखने का आदेश दिया है. माल में स्थित ग्रोसरी, फार्मेसी और सब्जी की दुकानें खुली रह सकती हैं. उन्होंने अपने आधिकारिक अकाउंट से शुक्रवार को ट्वीट कर इस फैसले की जानकारी दी है.

इसके अलावा दिल्ली सरकार के अंतर्गत आने वाले सभी गैरजरूरी दफ्तर और सेवाओं को भी 31 मार्च 2020 तक के लिए बंद कर दिया गया है. केवल जरूरी पब्लिक डीलिंग वाली गतिविधियां ही चालू रहेंगी. गैरजरूरी केटेगरी में आने वाले सभी स्टाफ को घर से काम करने के लिए कहा गया है.

पीएम ने खारिज की लॉकडाउन की आशंका

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से देश के कई शहरों में लॉकडाउन यानी पूरी तरह से बंदी की अटकलों के बीच गुरुवार को दिल्ली के कई बाजारों में खाने-पीने की चीजों के दाम में तेजी देखने को मिली थी. गुरुवार को पूरे दिन इस बात की अटकलें लगती रहीं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम अपने संबोधन में लॉकडाउन का ऐलान कर सकते हैं. इसके बाद ही कई इलाकों के बाजार में चीजों के दाम बढ़ने की खबरें आईं. हालांकि पीएम मोदी ने अपने संबोधन में इस तरह की किसी भी आशंका को खारिज कर दिया था. पीएमओ की तरफ से कहा गया कि इस नाजुक वक्त में अफवाह और अटकलों पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया जाना चाहिए.

सीएम केजरीवाल ने कहा-31 तक बंद रहेंगे मॉल

इधर, शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना वायरस के फैलने की आशंका के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सभी मॉल को 31 मार्च तक के लिए बंद रखने का आदेश दिया है. हालांकि सीएम ने कहा कि मॉल में स्थित ग्रोसरी, फार्मेसी और सब्जी की दुकानें खुली रह सकती हैं. उन्होंने अपने ऑफिशियल टि्वटर अकाउंट से शुक्रवार को इस फैसले की जानकारी दी है.