राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों का ग्राफ शेयर करते हुए केंद्र सरकार पर तंज कसा

नई दिल्‍ली। कोरोना वायरस और चीन के साथ सीमा विवाद के बाद राहुल गांधी ने पेट्रोल-डीजल कीमतों में बढ़ोतरी का मुद्दा उठाया है। उन्‍होंने बुधवार को देश में कोरोना वायरस मामलों और पेट्रोल-डीजल की कीमतों का ग्राफ शेयर करते हुए केंद्र सरकार पर तंज कसा। नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा कि “मोदी सरकार ने कोरोना महामारी और पेट्रोल-डीजल की कीततें ‘अनलॉक’ कर दी हैं।” इससे पहले राहुल लगातार भारत-चीन के बीच सीमा पर तनाव को लेकर सरकार से सवाल पूछ रहे थे।

राहुल ने यह मुद्दा इसलिए उठाया क्‍योंकि देश में लगातार 18वें दिन तेल के दाम बढ़े हैं। पहली बार डीजल पेट्रोल से महंगा हो गया। सरकारी तेल कंपनियों ने ईंधन की कीमते बढ़ाईं तो दिल्ली में पेट्रोल की कीमत तो मंगलवार के बराबर यानी 79.76 रुपये पर टिकी रही, लेकिन डीजल की कीमत 79 रुपये 40 पैसे से बढ़कर 79 रुपये 88 पैसे प्रति लीटर हो गई जो कल के मुकाबले 48 पैसे महंगा है।

प्रधानमंत्री ने हमारी सेना के साथ विश्वासघात किया

कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष चीन के मसले को लेकर लगातार हमलावर रहे हैं। उन्‍होंने मंगलवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री मोदी ने चीन के रुख को स्वीकार करके हमारी सेना के साथ विश्वासघात किया। कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्लूसी) की बैठक में राहुल ने कहा, “चीन ने बड़ी ढिठाई से हमारे क्षेत्र पर कब्जा कर लिया। प्रधानमंत्री ने चीन के इस रुख को स्वीकार करके हमारे रुख को नष्ट कर दिया और हमारी सेना के साथ विश्वासघात किया कि कोई भारतीय क्षेत्र उनके कब्जे में नहीं है।”

ट्वीट में पीएम मोदी ‘सरेंडर मोदी’ करार दिया था

राहुल ने 21 जून को एक ट्वीट में पीएम मोदी ‘सरेंडर मोदी’ करार दिया था। इसपर बीजेपी नेताओं की ओर से काफी तीखी प्रतिक्रियाएं आई थीं। हालांकि राहुल का रुख नर्म नहीं पड़ा है और वे लगातार केंद्र सरकार पर हमले कर रहे हैं। सीडब्लूसी की मीटिंग में भी राहुल ने कहा, “चीन की इस हरकत का एक कारण हमारी विदेश नीति की पूरी तरह नाकामी है। प्रधानमंत्री ने कूटनीति के स्थापित संस्थागत ढांचे को ध्वस्त कर दिया। कभी पड़ोसियों के साथ मित्रवत रहे संबंध अब तनाव में हैं। अपने साझेदार देशों के साथ हमारा संबंध बाधित हो गया है।”

मोदी ने भारतीय क्षेत्र में चीनी अतिक्रमण के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है

पीएम के बयान के बाद आक्रामक हुई कांग्रेस शनिवार को राहुल ने कहा था कि मोदी ने भारतीय क्षेत्र में चीनी अतिक्रमण के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्होंने यह बयान प्रधानमंत्री के यह कहने के बाद दिया था कि चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ नहीं की है। बता दें कि 15-16 जून को पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में एक अधिकारी सहित 20 भारतीय जवान शहीद हो गए थे। तब से कांग्रेस लगातार सरकार पर निशाना साध रही है।