लोकसभा चुनाव 2019: फोन कॉल से प्रचार पर सीएम अरविंद केजरीवाल को नोटिस

0
27

फोन कॉल के जरिए प्रचार करने पर चुनाव आयोग ने गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग ने कहा कि कोई भी प्रचार सामग्री मीडिया प्रमाणन व निगरानी समिति की मंजूरी के बाद ही बाद ही इलेक्ट्रानिक मीडिया में चलाई जा सकती है, लेकिन अभी तक इन फोन कॉल की मंजूरी नहीं ली गई है। आयोग ने केजरीवाल को जवाब देने के लिए 4 मई शाम 4 बजे से पहले तक का समय दिया है।

पूर्वी दिल्ली निर्वाचन अधिकारी की तरफ से अरविंद केजरीवाल को गुरुवार को यह कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि आयोग की मीडिया प्रमाणन व निगरानी समिति को 23 अप्रैल को शिकायत प्राप्त हुई थी, जिसमें कहा गया है कि आम आदमी पार्टी की तरफ से राजनीतिक प्रचार के लिए मोबाइल नंबर पर रिकॉर्डेड ऑडियों वाली फोन कॉल की जा रही है। समिति की जिसका निगरानी शुरू की तो पाया कि आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल की रिकॉर्डेड फोन कॉल के लिए राजनीतिक प्रचार किया जा रहा है, जिसमें से एक फोन कॉल समिति के सदस्य के पास भी आई थी।

आयोग में नोटिस में कहा है कि आदर्श आचार संहिता के अनुसार चुनाव प्रचार के लिए समूह में भेजे जा रहे किसी भी तरह के मोबाइल संदेश, ऑडियो रिकॉर्डिंग का पूर्व प्रमाणन आवश्यक है। अगर केजरीवाल के पास रिकॉर्डेड फोन कॉल के प्रमाणन से संबंधित दस्तावेज हैं, तो दिए गए समय से पहले दस्तावेज जमा करें। अगर तय समय पर आप की तरफ से जवाब दाखिल नहीं हुआ तो माना जाएगा कि आप को इस संबंध में कुछ नहीं कहना है। फिर आप पर चुनाव कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।