पाकिस्तान से सटी 814 किमी लंबी एलओसी पर पाकिस्तान ने तोपों, टैंकों के अलावा 1 लाख से अधिक अतिरिक्त सैनिकों को नियंत्रण रेखा के पार तैनात कर दिया है। भारतीय सेना भी पूरी तरह मुस्तैद है।

सूत्रों की मानें तो आने वाले दिनों में एलओसी पर कुछ बड़ा हो सकता है। इसके संकेत सेना प्रमुख बिपिन रावत दे चुके हैं। 5 अगस्त के बाद से सीमा पार से आतंकवादियों की घुसपैठ पर रोक लग गई है। पाक सेना व सुरक्षा एजेंसी आईएसआई में हड़कंप मचा है।

पाक सेना आशंकित है कि भारतीय सेना किसी भी समय कार्रवाई करके पाक कब्जे वाले कश्मीर पर कब्जा कर सकती है। इसके लिए पाक सेना ने अपने क्षेत्र में तैयारियां तेज कर दी हैं। चंद दिनों में अपने एक लाख से अधिक सैनिकों को एलओसी के पार जगह-जगह तैनात कर दिया गया है।

सूत्रों का कहना है कि कुछ दिन पहले एलओसी पर 30 हजार पाक सैनिक तैनात थे अब इनकी संख्या सवा लाख से अधिक हो चुकी है। 30 से अधिक पैदल सेना इकाइयां शामिल हैं जिनमें 30 हजार सैनिक हैं। 25 मुजाहिद बटालियन जिनमें 17 हजार सैनिक हैं। बख्तरबंद टैंक बटालियन को तैनात कर दिया है।

पाक सेना ने अपनी वायु रक्षा इकाई के दो हजार से अधिक सैनिकों को तैनात कर दिया है। इनके ऊपर चार डिवीजन मुख्यालय व 10 ब्रिगेड मुख्यालय कमान कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि आदेश पर पाक सेना कभी भी कार्रवाई को शुरू कर सकती है। वहीं भारतीय सेना ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। सेना के बड़े अधिकारी हालात पर नजर रखे हुए हैं तथा भारतीय वायुसेना भी सतर्क है।

मिलने वाली जानकारी के मुताबिक, जम्मू सीमा पर भी टैंकों की तैनाती की जा चुकी है तथा भीतरी क्षेत्रों से बोफोर्स तोपों को एलओसी के उन स्थानों पर तैनात किया जाने लगा है जहां से पाक कब्जे वाले कश्मीर में अंदर तक मार की जा सके।