Casting Couch : Surveen Chawla बोलीं-‘वो मेरी जांघें और क्लीवेज…’

नई दिल्ली: सुरवीन चावला (Surveen Chawla) ने बॉलीवुड इंडस्ट्री का स्याह चेहरा एक बार फिर सबके सामने ला दिया है. सुरवीन ने अपने कास्टिंग काउच (Surveen Chawla on Casting Couch) को लेकर कुछ ऐसी बातें शेयर की हैं जिन्हें सुनने के बाद एक बार फिर बॉलीवुड की ग्लैमरस नजर आने वाली दुनिया काफी भद्दी साबित हो रही है. यह पहली बार नहीं है जब किसी एक्ट्रेस ने अपनी आपबीती सुनाई हो, वहीं अब एक बार फिर सुरवीन के बयान ने बॉलीवुड इंडस्टी में महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान पर सवालिया निशान लगा दिए हैं.

Mee Too.. बीते सालों में कई बार उठे सवाल

हालांकि बीते सालों में कई बड़ी एक्ट्रेस जैसे कंगना रनौत, राधिका आप्टे, टिस्का चोपड़ा आदि ने स्वीकार किया है कि इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच मौजूद है और उन्होंने अपने अनुभव शेयर किए. दिग्गज एक्ट्रेस नीना गुप्ता (Neena Gupta) ने हाल ही में आटोबायोग्राफी ‘सच कहू तो’ का विमोचन किया है, इस दौरान उन्होंने कई ऐसे खुलासे कि अब एक बार फिर वे सारी बातें दोबारा सामने आ चुकी हैं जो नीना के अनुभवों पर सच्चाई की मुहर लगाती हैं.

रात बिताना चाहता था फिल्ममेकर

surveen chawal twitter

नीना ने अपनी किताब में लिखा है कि गर्भावस्था के दिनों में उन्होंने अपने भयानक कास्टिंग काउच का सामना किया था. नीना ने बताया कि फिल्ममेकर उनके साथ रात बिताना चाहता था. अब हम आपको एक्ट्रेस सुरवीन चावला के संग हुए कास्टिंग काउच के अनुभव को सुनाने जा रहे हैं.

मुझे तीन बार कास्टिंग काउच का सामना करना पड़ा

साल 2019 में पिंकविला के साथ एक इंटरव्यू में, ‘सेक्रेड गेम्स’ (Sacred Games) स्टार सुरवीन चावला (Surveen Chawla) ने कास्टिंग काउच के बारे में बात करते हुए कहा था, ‘मुझे तीन बार कास्टिंग काउच का सामना करना पड़ा. एक समय था जब मुझे एक फिल्ममेकर के साथ जाने के लिए कहा गया था. एक रोल के लिए निर्देशक ने मुझे कहा गया था ‘मैं आपके शरीर के अंगों के हर इंच को जानना चाहता हूं. मैंने तब से ऐसे लोगों को अनदेखा करना शुरू कर दिया.’

साउथ इंडस्ट्री में भी मिला ऐसा अनुभव

surveen chawla bollywood

उन्होंने आगे कहा, ‘यह दक्षिण में एक और हास्यास्पद रूप से बड़ा निर्देशक था, एक राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक. मेरा वहां बहुत लंबा ऑडिशन था, यह लगभग एक शिफ्ट तक चला. मुझे विभिन्न चीजें करनी थीं जैसे-एक मोनोलॉग या कुछ अचानक कहना. मैं थोड़ी बीमार थी और मैं ऑडिशन के बाद लौट आई. तब निर्देशक ने अचानक मुंबई आने की बात कही, मुझे यह बहुत डरावना लगा और मैंने कहा ‘नहीं, धन्यवाद’.

सर को आपको करीब से जानना चाहते हैं

surveen chawla on phone call

सुरवीन ने बताया कि उस निर्देशक को हिंदी या अंग्रेजी नहीं आती थी वह सिर्फ तमिल बोल सकता था, उसने किसी और कॉल पर बात कराई. उस व्यक्ति ने मुझसे फोन पर कहा कि ‘सर को आपको करीब से जानना चाहते हैं, क्योंकि एक फिल्म बनाने के लिए लंबा समय साथ बिताना होगा.’ मैंने बड़ी मासूमियत से उनसे पूछा ‘क्या?’ तो, उन्होंने कहा ‘बस यह फिल्म तक चलेगा; तब आप कर सकती हैं.’ मुझे अभी भी मेरे शब्द याद हैं। मैंने उनसे कहा कि आप गलत दरवाजे पर दस्तक दे रहे हैं अगर सर को लगता है कि मैं प्रतिभाशाली नहीं हूं तो मैं उनकी फिल्म में काम करने के लिए तैयार नहीं हूं लेकिन मैं खुद को बदल नहीं सकती. और वह फिल्म भी नहीं हुई.

एक फिल्म निर्माता यह देखना चाहता था कि मेरी क्लीवेज कैसी दिखती है

हिंदी फिल्म उद्योग में कास्टिंग काउच के अनुभवों के बारे में बात करते हुए, उन्होंने कहा, ‘यह काफी हाल ही में हुआ, पिछले साल से पिछले साल. मुझे एक कार्यालय से बाहर निकलना पड़ा क्योंकि किसी ने ऐसा करने के लिए उकसाया. सुरवीन ने कहा, ‘एक फिल्म निर्माता यह देखना चाहता था कि मेरी क्लीवेज कैसी दिखती है और वह यह देखना चाहता है कि मेरी जांघें कैसी दिखती हैं. हां इस तरह की चीजें सच में होती हैं.’