Covid19 भारत में हो सकते हैं संक्रमण के 111 करोड़ मामले: अमेरिकी संस्था

अमेरिका स्थित सेंटर फॉर डिसीज, डायनामिक्स एंड इकोनॉमिक पॉलिसी (CDDEP) ने 20 अप्रैल को जारी अपनी रिपोर्ट में कहा कि सितंबर तक भारत में कोविड – 19 संक्रमण के कुल 111 करोड़ मामले हो सकते है, ये लगातार लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के बाद भी संभव है।

thehindubusinessline.com की खबर के अनुसार रिपोर्ट में कहा गया है कि-ये अनुमान कोरोना के नए मामलों के आंकड़ों पर आधारित हैं, लेकिन SARS-CoV-2 वायरस की नवीनता को देखते हुए, इन अनुमानों में अभी भी कुछ अंतर्निहित अनिश्चितता है। इस रिपोर्ट का टाइटिल है-भारत में कोविड-19 । इसमें कहा गया कि कई अन्य देशों जैसे कि चीन, इटली, अमेरिका, यूके और स्पेन ने लंबे समय तक कोरोना के कम मामलों के बाद मामलों में अचानक विस्फोट दिखाया, ऐसे में ये संभव है।

यहां बता दें कि ये वही सेंटर फॉर डिसीज, डायनामिक्स एंड इकोनॉमिक पॉलिसी है जिसने 24 मार्च को एक समान रिपोर्ट निकाली थी, जिसमें उसने कहा था कि भारत में कोरोना के मामले 12-24 करोड़ के बीच हो सकते हैं। CDDEP जॉन्स हॉपकिन्स विश्वविद्यालय का हिस्सा नहीं है, जिसने अपनी रिपोर्ट के साथ ही खुद को अलग कर लिया था। रिपोर्ट में कड़े प्रतिबंधों को जारी रखने की वकालत की गई है। संक्रमण से बचने के लिए प्रतिबंधों को अक्सर कड़ा करने की आवश्यकता है।

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामलो में गुरुवार की तुलना में आज थोड़ी कमी देखने को मिली है। पिछले 12 घंटे में कोरोना वायरस के 922 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 29 लोगों की मौत हो गई है। गुरुवार को जारी स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 21393 हो गई है। वहीं, इस खतरनाक कोविड-19 महामारी से मरने वालों का आंकड़ा 681 पहुंच गया है। कोरोना वायरस के कुल 21393 मामलों में से 16454 एक्टिव केस हैं। इसके अलावा, 4258 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। कोरोना वायरस से सर्वाधिक 269 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 6710 हो गई है।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के कुल 6710 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं। कोरोना के इन कुल केसों में से 5652 केस एक्टिव हैं और 789 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है। इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 269 लोगों की जान जा चुकी है।