Delhi: राजधानी में Lockdown की संभावना नहीं – Satyendra Jain

नई दिल्‍ली (hdnlive) राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों और लॉकडाउन की अफवाहों पर दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री Satyendra Jain ने कहा है कि लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है.

नहीं लगेगा लॉकडाउन’

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन करके देखा गया. लेकिन उसके पीछे लॉजिक ये था कि किसी को पता ही नहीं था कि कोरोना वायरस कैसे फैलता है. एक्‍सपर्ट्स का कहना था कि एक्टिविटी नहीं होगी, तो वायरस नहीं फैलेगा. लेकिन लॉकडाउन तो बढ़ता गया पर कोरोना खत्‍म नहीं हुआ.

रेलवे स्‍टेशन और एयरपोर्ट पर रैंडम टेस्टिंग

इसके साथ ही सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि दिल्‍ली में पॉजिटिविटी रेट पौने दो प्रतिशत है. मामले पहले से ज्‍यादा हैं. रोजाना 85 से 90 हजार टेस्ट हो रहे हैं. आइसोलेशन और ट्रेसिंग की जा रही है जिससे कोरोना के बढ़ते मामलों को कंट्रोल किया जा सके. अस्पताल में बेड की उपलब्‍धता पर स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि 80 प्रतिशत बेड खाली हैं. साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि एक हफ्ते में डेफिनिटिव ट्रेंड चेक करना पड़ेगा. हम दिल्ली में कंप्लायंस पर सख्ती कर रहे हैं, मास्क सबसे ज्यादा जरूरी है. रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर रैंडम टेस्टिंग शुरू कर दी गई है.

बिना रजिस्‍ट्रेशन के भी लगवा सकेंगे वैक्‍सीन

वैक्‍सीनेशन को लेकर जानकारी देते हुए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि 1 अप्रैल से शाम के 3 से रात के 9 बजे तक वैक्‍सीनेशन करा सकते हैं. इसके लिए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि लोग वैक्‍सीनेशन में दिक्‍कतों का सामना कर रहे हैं. कई लोग टेक्‍नोलॉजी से परिचित नहीं है. अगर वो रजिस्‍टर्ड हो भी जाते हैं, तो भी समय पर वैक्‍सीनेशन सेंटर नहीं पहुंच पाते. इसलिए सरकार ने शाम 3 बजे से रात 9 बजे तक के समय को रखा है, जिससे लोग बिना रजिस्‍ट्रेशन के भी वैक्‍सीन लगवा सकें.

देश में कोरोना के 62,258 नए मामले

बता दें कि करीब दो महीने के दौरान दिल्‍ली में कोरोना के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं और मरने वालों की संख्या 10,987 तक पहुंच गई है. वहीं भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 62,258 नए मामले सामने आए हैं, जो अक्टूबर, 2020 के बाद से सबसे अधिक दैनिक मामले हैं. इसके साथ ही शनिवार को कुल मामलों की संख्या बढ़कर 1,19,08,910 तक पहुंच गई.