Himachal Pradesh के Bhagsu Nag में बादल फटने से तबाही, पानी में बह गईं कारें, घरों को नुकसान

(hdnlive) हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला शहर के भागसू नाग में बादल फटने से तबाही हुई है। धर्मशाला के मकलोडगंज से करीब दो किलोमीटर की दूरी पर स्थित फागसू में सोमवार को सुबह बादल फट गया और इसके चलते पानी का लेवल बढ़ गया। इससे कई घरों और होटलों को नुकसान पहुंचा है। यही नहीं पर्यटकों और स्थानीय लोगों की गाड़ियां भी पानी के तेज बहाव में बह गईं। इस हादसे में दो लोग लापता भी हुए हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

कांगड़ा के डिप्टी कमिश्नर निपुन जिंदल ने कहा कि इस घटना में दो लोगों के लापता होने की खबर है। उन्होंने कहा कि हम यह नहीं कह सकते कि यह बादल फटने की घटना है। यह भारी बारिश के चलते बाढ़ आने की घटना है। ऐसे कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें पानी के बहाव में गाड़ी तबाह हो गईं और नालों में बहती नजर आईं। सोशल मीडिया पर ये वीडियो जमकर वायरल हो रहे हैं और लोग इसे प्रकृति से छेड़छाड़ का परिणाम बता रहे हैं।

बादल फटने की इस घटना के चलते मांझी नदी में पानी का स्तर बढ़ गया है। बता दें कि इन दिनों धर्मशाला में पर्यटकों का जमावड़ा लगा हुआ है और इस बीच यह घटना चिंता को बढ़ाने वाली है। जिस वक्त यह घटना हुई, उस दौरान भी पर्यटकों की भारी भीड़ भागसू नाग और आसपास के इलाकों में मौजूद थी। बता दें कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए लागू हुए प्रतिबंधों में बीते कुछ दिनों में ढील दी गई है और इसके चलते बड़ी संख्या में लोगों ने पहाड़ों का रुख किया है। बीते दिनों ऐसी कई तस्वीरें आई थीं, जिनमें धर्मशाला, शिमला, मनाली और उत्तराखंड के मसूरी समेत कई पर्यटन स्थलों में लोगों की भीड़ देखने को मिली थी।

शिमला में भूस्खलन के चलते हाईवे बंद, कई दिनों तक जारी रहेगी भीषण बारिश

दावा किया जा रहा है कि कुछ ही घंटे में धर्मशाला में 300 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। धर्मशाला के भागसू, मकलोडगंज, नड्डी समेत कई इलाकों में इन दिनों पर्यटकों की भारी भीड़ जमा है। इस बीच शिमला में भी झाकरी के पास भारी बारिश के चलते भूस्खलन हुआ है और इसकी वजह से नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक को रोकना पड़ा है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक अगले दो से तीन दिन और धर्मशाला, शिमला समेत हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश जारी रहेगी। ऐसे में पर्यटकों को इन इलाकों का रुख करने से फिलहाल बचना चाहिए।