कोविड प्रोटोकॉल का उलंघन बताते हुए मौन धरने मामले में कांग्रेसियों के खिलाफ FIR

उत्तर प्रदेश (Hdnlive): उत्तर प्रदेश के लखनऊ में शुक्रवार को कांग्रेस के मौन धरने मामले में एफआईआर (FIR)दर्ज की गई है। इस धरने में प्रियंका गांधी शामिल होने पहुंची थीं। एफआईआर कांग्रेस यूपी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, वेद प्रकाश त्रिपाणी और दिलप्रीत सिंह समेत लगभग 600 अज्ञात कांग्रेसियों के खिलाफ की गई है। हालांकि एफआईआर में प्रियंका गांधी का नाम नहीं है।

यूपी में कानून व्यवस्था के खिलाफ कांग्रेस का मौन धरना गांधी प्रतिमा पर आयोजित किया गया था। इस धरने में कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी भी शामिल होने पहुंची थीं। इस धरने को कोविड प्रोटोकॉल का उलंघन बताते हुए हजरतगंज थाने में एफआईआर हुई है।

अनुमति नहीं होने का आरोप

एफआईआर में कहा गया है कि अजय कुमार लल्लू, वेद प्रकाश त्रिपाठी और दिलप्रीत सिंह कांग्रेस के अन्य लगभग 500-600 कार्यकर्ताओं के साथ दोपहर साढ़े तीन बजे अटल चौक के पास जीपीओ पर गांधी प्रतिमा के पास आए। यहां पर गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद बिना किसी सूचना और अनुमति के सांकेतिक मौन पर गांधी प्रतिमा के पास बैठ गए।

सरकारी संपत्ति के नुकसान का आरोप

शिकायत में कहा गया है कि कांग्रेस नेता लगभग डेढ़ घंटे तक वहां बैठे रहे। किसी के पास कार्यक्रम की अनुमति नहीं थी। कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने निषिद्ध जगह पर धरना प्रदर्शन किया। इस धरने में किसी भी तरह के कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया। कार्यकर्ताओं ने रोड जाम कर दिया। वहां लगी जालियां और दीवारें तोड़ दीं, जिससे राजकीय संपत्ति को नुकसान हुआ।