बुजुर्गों को लूटने वाले नमस्ते गैंग का पर्दाफाश

नई दिल्ली । दिल्ली-एनसीआर (delhi-ncr) में बुजुर्गो से लूटपाट करने वाले नमस्ते गैंग namaste gang ) के सरगना को मैदानगढ़ी थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी चांद मोहम्मद की निशानदेही पर पुलिस ने चोरी की ज्वेलरी खरीदने वाले दिनेश कुमार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया। चांद मोहम्मद का गिरोह केवल बुजुर्गों को निशाना बनाता है। आरोपितों चांद मोहम्मद और दिनेश कुमार के पास से पुलिस ने एक स्कूटी और कुछ ज्वेलरी बरामद की है।

दक्षिणी जिले के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि 17 अक्टूबर को 70 वर्षीय माया देवी गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराई कि शाम को टहलने के दौरान उनके पास स्कूटी से एक युवक आया और उन्हें नमस्ते कर उनके पैर छूए। युवक ने उनसे बातें शुरू की और उन्हें झांसे में ले लिया। आरोपित ने पीड़ित बुजुर्ग की ज्वेलरी का वजन कराने के बहाने उनकी ज्वेलरी उतारवा ली और लेकर फरार हो गया। आरोपित के जाने के बाद पीड़िता ने परिजनों को बताया और फिर मामले की शिकायत पुलिस को दी गई। मैदानगढ़ी थाना पुलिस ने केस दर्ज कर सब इंस्पेक्टर उमेश यादव, हेडकांस्टेबल पंकज की टीम को जांच सौंपी। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से एक नीले रंग की बिना नंबर वाली स्कूटी का पता चला।

आगे की जांच में यह भी सामने आया कि इसी तरह से 2017 और 2020 के बीच सैकड़ों वारदातों को अंजाम दिया गया है। यह सभी एक ही गिरोह ने अंजाम दिया है। जब आरोपितों की पहचान हो गई तो तो उनकी लोकेशन तलाशी गई और आखिर में चांद मोहम्मद को दबोच लिया।

चांद मोहम्मद ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह अब तक 60 लाख रुपये से ज्यादा की ज्वेलरी बुजुर्गों से लूट चुका है। आरोपित ने सारी ज्वेलरी फरीदाबाद के एक ज्वेलर दिनेश को बेची थी। चांद मोहम्मद अपने गिरोह के साथ काम करता था। गिरोह ने अब तक 200 से ज्यादा वारदातों को अंजाम दिया है। अकेले चांद मोहम्मद पर सौ से ज्यादा केस दर्ज हैं।