अर्नब गोस्वामी के समर्थन में प्रदर्शन करने गए बीजेपी नेताओं को पुलिस ने रोका

नई दिल्ली । दिल्ली पुलिस ने रविवार को भाजपा नेताओं कपिल मिश्रा (kapil mishra) और तेजिंदर बग्गा (Tajender Bagga) को इंटीरियर डिजाइनर को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गिरफ्तार पत्रकार अर्नब गोस्वामी (Arnab goswami) के समर्थन में राजघाट पर प्रदर्शन करने से रोका और हिरासत में ले लिया। दोनों नेताओं को राजेन्द्र नगर थाने ले जाया गया।

दिल्ली के पूर्व मंत्री मिश्रा ने कहा कि गोस्वामी को महाराष्ट्र पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये जाने के विरोध में प्रदर्शन करने की योजना थी। उन्होंने कहा कि देश में पहली बार ऐसा हुआ है कि सरकार से सवाल करने के लिए किसी पत्रकार और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। हम महाराष्ट्र सरकार द्वारा गोस्वामी पर किए गए अत्याचार का विरोध करते हैं।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मिश्रा और बग्गा समेत चार लोगों को निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर राजघाट पर प्रदर्शन करने की कोशिश करने के लिए हिरासत में ले लिया गया। महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले की अलीबाग पुलिस ने गोस्वामी को इंटीरियर डिजाइनर अन्वय नाइक और उनकी मां को 2018 में कथित रूप से खुदकुशी के लिए उकसाने के सिलसिले में चार नवंबर को लोअर परेल स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया था। एक निचली अदालत ने उन्हें 18 नवंबर तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। गोस्वामी को फिलहाल एक स्थानीय स्कूल में रखा गया है, जो अलीबाग जेल का कोविड-19 केन्द्र है।