नागपुर, भोपाल और राउरकेला के NIT में खुले S – TIC केंद्र

बेंगलुरु (hdnlive)। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान (ISRO) के अध्यक्ष के सिवन ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर, राउरकेला और भोपाल में तीन अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी उष्मायान केंद्रों (S-TIC) का उद्घाटन किया।

इसरो ने विश्वेश्वरैया राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर (पश्चिमी क्षेत्र) के लिए, मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल (मध्य क्षेत्र) के लिए,, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, राउरकेला (पूर्वी) क्षेत्र के लिए द्विपक्षीय मसौदा ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है।

बृहस्पतिवार को इस मौके पर एक ऑनलाइन कार्यक्रम का आयोजन हुआ और इसमें अंतरिक्ष विभाग में सचिव सिवन ने विद्यार्थियों को अंतरिक्ष की दुनिया में उद्यमशीलता के रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए उत्साहित किया।

इसरो ने एक बयान में सिवन को यह कहते हुए उद्धृत किया कि एस-टीआईसी की अवधारणा किसी तय क्षेत्र के एक बड़े शैक्षणिक संस्थान के साथ जुड़कर उसके अंतिम वर्ष के स्नातक, परास्नातक और अनुसंधान अध्येताओं को ‘भविष्य के उद्यमियों के’ रूप में तैयार करने का अवसर प्रदान करना है।

इन तीन नए S-TIC की स्थापना के साथ ही देश के छह क्षेत्रों में से प्रत्येक में इस तरह का एक एक केंद्र स्थापित करने का इसरो का लक्ष्य पूरा हो गया।

अगरतला स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (पूर्वोत्तर क्षेत्र) में, जालंधर स्थित डॉ बी आर आंबेडकर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (उत्तरी क्षेत्र) और तिरुचिरापल्ली स्थित राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (दक्षिणी क्षेत्र) में पहले से ही ऐसे एस-टीआईसी कार्यरत हैं।