प्रेम कहानी का दुखद अंत, साले ने कर दी जीजा की हत्या, बहन फांसी पर झूली

जबलपुर (hdnlive)। मध्य प्रदेश के जबलपुर में एक प्रेम कहानी का तीन महीनों में ही दुःखद अंत हो गया। प्रेम विवाह से नाराज युवती के भाई ने गुरुवार सुबह अपने जीजा की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी और जीजा का कटा हुआ सिर लेकर थाने पहुंच गया। वहीं, जब यह खबर उसकी बहन को मिली, तो उसने अपने घर पर ही फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस दोनों घटनाओं की जांच कर रही है। 

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार तिलवारा, शंकरघाट निवासी मिंटू शुक्ला उर्फ धीरज पुत्र शिवराम शुक्ला (35) गुरुवार सुबह तिलवारा थाने में एक बोरी लेकर पहुंचा था। जिससे खून रिस रहा था। जिसे देख पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। पूछताछ में धीरज ने बताया कि उसने विजेत पुत्र सुरेंद्र कश्यप (32) की रमनगरा के बर्मन मोहल्ला में हत्या कर दी है। पुलिस मौके पर पहुंची तो खेतों से गुजरने वाली सड़क पर विजेत का धड़ मिला।

मृतक का एक कटा हुआ हाथ भी वहीं पड़ा था। प्राप्त जानकारी के अनुसार विजेत कश्यप ने 13 दिसंबर 2020 को धीरज की बहन पूजा (19) को घर से भगाकर शादी कर ली थी। पूजा के घरवालों ने थाने में गुमशुदशी दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने 27 फरवरी को दोनों को पकड़ लिया था, लेकिन पूजा ने घर जाने से इनकार कर दिया। इसके बाद से विजेत उसके साथ जबलपुर के गढ़ा इलाके में किराये के मकान में रह रहा था। गुरुवार को वह अपने गांव आया था, इसी दौरान धीरज शुक्ला ने उसकी हत्या कर दी। आरोपी  धीरज ने पुलिस को बताया कि विजेत उसका दोस्त था जिसने उसे धोखा दिया और उसकी बहिन को जाल में फंसाकर उससे शादी की जिसको लेकर वह नाराज था।

वही पुलिस ने अभी विजेत की हत्या पर कार्रवाई शुरू ही की थी कि कुछ देर बाद पुलिस को सूचना मिली की गढ़ा में पूजा की लाश फंदे पर झूल रही है। पुलिस मौके पर पहुंची, तब तक परिजनों ने कमरे का दरवाजा तोड़ दिया था। पुलिस जांच कर रही है कि कहीं पूजा की भी हत्या करके शव तो नहीं लटकाया गया है। बताया जाता है कि विजेत कश्यप और धीरज शुक्ला का परिवार अवैध शराब के कारोबार से जुड़ा हुआ है। इसलिए दोनों परिवारों का एक-दूसरे के घर आना-जाना था। इसी दौरान पूजा और विजेत में प्रेम संबंध बन गए।