BJP Meeting में संग्राम- वैश्य समाज पर टिप्पणी करते हुए गालियां दी और पीटा, धरने पर बैठे वैश्य समाज के लोग

(hdnlive) गाजियाबाद में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक में दो कार्यकर्ताओं के बीच आपस में मारपीट हो गई। दोनों के बीच जमकर लात-घूंसे चले। हालत यह हो गई कि एक कार्यकर्ता को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। पीड़ित कार्यकर्ता की तरफ से थाना सिहानी गेट में तहरीर दी गई है। दूसरी तरफ मामला पार्टी हाईकमान के पास पहुंच गया है। अभी तक इस मामले में पार्टी की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

शुक्रवार को भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक थी। इसके लिए गाजियाबाद से प्रदेश कार्यकारिणी में शामिल सभी सदस्यों को नेहरू नगर स्थित पार्टी कार्यालय पर बुलाया गया था। यहीं पर भाजपा प्रदेश समिति के सदस्य पृथ्वी सिंह और पवन गोयल के बीच में शहर विधानसभा क्षेत्र को लेकर बात चल रही थी। इस दौरान पूर्व विधायक प्रशांत चौधरी ने इसमें दखल दिया। पवन गोयल ने कहा कि तुम बीच में क्यों बोल रहे हो। यहां वैश्य समाज को लेकर आपस में नोंकझोंक हो गई। इसके बाद दोनों के बीच कहासुनी होने लगी।

आरोप है कि प्रशांत चौधरी ने पवन गोयल को वैश्य समाज पर टिप्पणी करते हुए गालियां दी। इस बात को लेकर दोनों लोग कार्यालय में भिड़ गए। इस दौरान प्रशांत चौधरी ने पवन गोयल की जमकर पिटाई कर दी, तभी वहां मौजूद कार्यकर्ताओं ने दोनों में बीच-बचाव कराया। इस झगड़े में पवन गोयल को गंभीर चोटें आई हैं, जिसके बाद उन्हें लोहिया नगर स्थित गायत्री अस्पताल में भर्ती कराया गया।

बीजेपी नेता के परिजनों ने थाना सिहानी गेट में दी तहरीर

इस मामले को लेकर पवन गोयल के भाई मनीष गोयल ने थाना सिहानी गेट में भाजपा नेता एवं पूर्व विधायक प्रशांत चौधरी के खिलाफ जान से मारने की धमकी का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

वैश्य समाज के लोग बैठे धरने पर, एक्शन तक न उठने का ऐलान

भाजपा नेता पवन गोयल के साथ हुई मारपीट एवं वैश्य समाज को लेकर की गई टीका टिप्पणी के विरोध में अखिल भारतीय वैश्य समाज के लोग गायत्री हॉस्पिटल के परिसर में धरने पर बैठ गए। वैसे समाज के नेता वीके अग्रवाल, नंदकिशोर नंदी समेत कई लोग अस्पताल में दरी बिछाकर बैठ गए और नारेबाजी की। वीके अग्रवाल ने कहा कि जब तक पार्टी प्रशांत चौधरी के खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई नहीं करती तब तक वैश्य समाज आंदोलन करेगा।