PM Modi की नौटंकी से आई कोरोना की दूसरी लहर : Rahul Gandhi

(hdnlive) कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कोरोना को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने केंद्र सरकार को आगाह किया। राहुल ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उऩ्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी कोरोना को समझ नहीं पाए हैं और उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना की दूसरी लहर आने का कारण प्रधानमंत्री की नौटंकी है।

राहुल गांधी ने कहा, “हमने भारत सरकार को बार-बार कोविड-19 के बारे में चेतावनी दी थी। बाद में, पीएम मोदी ने कोविड-19 के खिलाफ भारत की जीत का इजहार किया था। यह एक उभरती हुई बीमारी है। लॉकडाउन और मास्क पहनना अस्थायी समाधान है. वैक्सीन ही कोविड का स्थायी समाधान है।”

डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में राहुल गांधी ने कहा, ”कोरोना संकट को लेकर हमने एक के एक बाद सरकार को सलाह दी, लेकिन सरकार ने हमारा मजाक बनाया है। प्रधानमंत्री ने समय से पहले यह घोषित कर दिया कि कोरोना को हरा दिया गया है। सच्चाई यह है कि सरकार और प्रधानमंत्री को कोरोना समझ नहीं आया है और आज तक समझ नहीं आया है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया, ”कोरोना एक बदलती हुई बीमारी है। इस वायरस को जितना समय आप देंगे, जितनी जगह देंगे यह उतना ही खतरनाक बनता जाएगा। मैंने पिछले साल कहा था कि कोरोना को समय और जगह मत दीजिए।”

राहुल गांधी ने कहा, “भारत में COVID19 की दूसरी लहर के पीछे की वजह प्रधानमंत्री की ‘नौटंकी’ है। उन्होंने COVID19 को नहीं समझा। भारत की मृत्यु दर एक झूठ है। सरकार को सच बोलना चाहिए।”

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, ‘सरकार ने अभी भी दरवाजा खोला है, अमेरिका ने अपनी आधी आबादी को वैक्सीन लगा दी। ब्राजील जैसे देश ने अपने 8 फीसदी लोगों का टीकाकरण कर दिया। ब्राजील तो वैक्सीन कैपिटल भी नहीं है, हम वैक्सीन कैपिटल हैं, हम वैक्सीन बनाते हैं। देश में कोरोना की दूसरी लहर के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं।”

उन्होंने आरोप लगाया, ”दूसरी लहर प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी है। प्रधानमंत्री ने जो नौटंकी की, अपनी जिम्मेदारी पूरी नहीं की, उसका कारण दूसरी लहर है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आगाह किया कि अगर मौजूदा गति से टीकाकरण हुआ तो और भी लहर आएगी क्योंकि वायरस का स्वरूप बदलता जाएगा।

प्रधानमंत्री पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा, “समस्या यह है कि टीकाकरण की कोई रणनीति नहीं है। प्रधानमंत्री रणनीतिक रूप से नहीं सोचते। वह एक इवेंट मैनेजर है, वह एक बार में एक इवेंट के बारे में सोचते हैं”

कांग्रेस शासित राज्यों के बारे में बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, “मैंने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की, उनसे कहा कि झूठ से उन्हें ही नुकसान होगा, हकीकत को स्वीकार करने की जरूरत है. वास्तविक मौत की संख्या परेशान करने वाली हो सकती है लेकिन हमें सच बोलने पर टिके रहना चाहिए।”