Delhi में बसों के इंतजार खत्म : 14 जुलाई से बसों की live location Googlemap पर दिखेगी

(hdnlive) बस में सफर के लिए अब आपको बस स्टैंड पर उसके लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा। आप अपने मोबाइल के गूगल मैप ऐप पर अपनी बस नंबर की लाइव लोकेशन देकर अपने आगे की यात्रा करने की योजना बना सकते है। दिल्ली में आगामी 14 जुलाई से बसों की लाइव लोकेशन गूगर मैप मोबाइल ऐप पर दिखेगी।

पहले चरण में सिर्फ क्लस्टर बसों से इसकी शुरूआत होगी उसके बाद डीटीसी बसों को भी इससे जोड़ा जाएगा। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने इसे लेकर परिवहन मंत्रियों व गूगल मैप के अधिकारियों संग बैठक की। बैठक के बाद उन्होंने ट्वीट करके बताया कि अब बस से सफर करने के लिए समय बर्बाद नहीं करना पड़ेगा।

मिनट-मिनट का हिसाब रखकर आप बस से आगे की यात्रा करने की योजना बना जाएंगे। उन्होंने कहा कि यह सब कुछ ओपन डाटा ट्रांजिट के जरिए संभव हो पाया है। उन्होंने कहा की गूगल प्लेटफार्म पर जल्द ही बसों की लाइव लोकेशन मिलेगी।

दिल्ली के पास इस समय 6700 से अधिक बसे है। इसमें 300 के करीब क्लस्टर स्कीम की बसें है जबकि 37 से अधिक डीटीसी के बेड़े में है। पहले चरण में गूगल मैप पर लाइव लोकेशन के लिए क्लस्टर स्कीम के तहत चल रही बसें ही उपलब्ध रहेगी। उसके बाद अगले चरण में डीटीसी को गूगल प्लेटफार्म पर लाया जाएगा।

परिवहन अधिकारियों का कहना है कि इससे बसों के इंतजार खत्म हो जाएगा। लोगों को पता होगा कि उनके रूट की बसें कहा है। वह कितनी देर में बस स्टैंड पर पहुंच रही है। उसके हिसाब से वह आगे की यात्रा की योजना बना पाएंगे। इससे समय की बचत भी होगी।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवहन विभाग की इस पहल की सराहना की है। परिवहन मंत्री के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा की दिल्ली सरकार परिवहन व्यवस्था को मजबूत करने के लिए पहुच मेहनत कर रही है। यात्रियों के अनुसार तकनीकी का प्रयोग करके उसे और कैसे सुविधाजनक बनाया जा सकता है उसका भी प्रयोग हम कर रहे है।

फैक्ट फाइल

6700 से अधिक बसें है दिल्ली में।

3700 से अधिक बसें डीटीसी में।

3000 के करीब क्लस्टर में।

14 जुलाई से क्लस्टर बसें गूगल मैप पर दिखेगी।